जानिए कितना होना चाहिए शुगर का लेवल – Sugar Level in Hindi

0
296
Normal Sugar Level Kitna Hona Chahiye

Bindaas Dekh


शुगर एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है जो हमारे देश में तेजी से बढ़ती ही जा रही है जिसे आमतौर पर मधुमेह भी कहा जाता है यह एक मेटाबोलिक डिसऑर्डर है जब हमारे रक्त में ग्लूकोज का लेवल बढ़ जाता है तब इस बीमारी का जन्म होता है भारत में हर पांचवें व्यक्ति को शुगर की शिकायत है ये रोग इतना भयानक है कि लोगो को मृत्यु तक हो जाती है इसलिए लोगो का इस बीमारी के प्रति जागरूक होना अति आवश्यक है और समय समय पर हर व्यक्ति को अपना शुगर लेवल टेस्ट करवाते रहना चाहिए ताकि शुगर लेवल बढ़ने से पहले इसे रोका जा सके और कंट्रोल कर सके इन दिनों हर व्यक्ति इंटरनेट पर शुगर लेवल के बारे में पड़ता है और ये जानकारी जुटाता है कि शुगर लेवल कितना होना चाहिए इसलिए आज हमारी टीम आपके लिए बहुत ज़रुरी सुचना जुटा कर लायी है तक आपको भी पता चल सके कि एक व्यक्ति का शुगर लेवल कितना होना किये ताकि वो समय रहते इसका इलाज करवा सके

What is Sugar in Hindi- डायबिटीज क्या है?

यह रोग किसी कीटाणु या विष्णु से नहीं होता है इस बीमारी का कारण कुछ और है आइये समझाते है आपको मनुष्य ऊर्जा के लिए खाना खाता है ये खाना हमारे शरीर में जाकर छोटे छोटे टुकड़ो में बट जाता है और ये टुकड़े glucose में बदल जाते है ये हमारी शरीर कि सभी कोशिकायों में पहुँचता है जिसे हमे ऊर्जा मिलती है ग्लूकोज का हमारी कोशिकायों तक पहुंचने का काम इंसुलिन द्वारा होता है जब शरीर में इंसुलिन का बनना बंद हो जाये तब शरीर में ग्लूकोज और शक्कर कि मात्रा बाद जाती है जिसे शुगर जैसे भयानक बीमारी का जन्म होता है

Types of Sugar in Hindi : शुगर तीन प्रकार की होती है

टाइप 1 शुगर – इस तरह के शुगर में मनुष्य का अग्न्याशय (pancreas) उचित मात्रा में इंसुलिन नहीं बना पता जिसकी वजह से मनुष्य के शरीर में ग्लूकोज का ठीक तरह से विकास नहीं हो पता जिससे ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ जाता है तब वह शुगर जैसे ख़तरनाक बीमारी का शिकार हो जाता है

टाइप 2 शुगर – इस तरह के शुगर में मनुष्य का अग्न्याशय (pancreas) उचित मात्रा में इंसुलिन तो बनता है लेकिन शरीर की कोशिकाएं उन्हें शोषित नहीं कर पाती जिसकी वजह से ग्लूकोज को ऊर्जा में नहीं बदल पता इस वजह से भी शरीर में शुगर कर लेवल बढ़ जाता है और मधुमेह जैसे बीमारी की जकड़ में आ जाता है

Gestational Diabetes(गर्भवती मधुमेह) : ये शुगर का तीसरा प्रकार है इस तरह का शुगर आमतौर पर गर्भवती महिलाओं में देखा जाता है इस तरह का शुगर इनमें पहले नहीं होता ये अचानक होने वाला शुगर है जिसके कारण से गर्भवती महिलाओं में ब्लड शुगर पाया जाता है अगर समय रहते इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो इसका असर होने वाले बचे पर भी पड़ सकता है

शुगर का लेवल कितना होना चाहिए- Normal Sugar Level Kitna Hona Chahiye

स्वस्थ व्यक्ति का शुगर लेवल कितना होना चाहिए (Sugar Level Kitna Hona Chahiye)

6 से 12 साल तक के बच्चों में

सुबह खाली पेट – 80 से 180 के बीच

दोपहर के खाने के बाद – 90 से 180 के बीच

कसरत करने के पहले – 150  

सोते वक़्त – 100 से 180 के बीच

13 से 19 साल के बच्चों में

सुबह खाली पेट – 70 से 150 के बीच

दोपहर के खाने के बाद  – 90 से 130 के बीच

कसरत करने के पहले – 150  

सोते वक़्त – 90 से 150 के बीच

वयस्कों में शुगर लेवल

सुबह खाली पेट – 100

दोपहर के खाने से पहले  – 70 से 130 के बीच

दोपहर के खाने के बाद   – 140 से कम

कसरत करने के पहले – 100

सोते वक़्त – 100 से 140 के बीच

शुगर के रोगी के लिए शुगर लेवल

सुबह खाली पेट – 80 से130 के बीच  

दोपहर के खाने के वक़्त –  180 से कम

सोते वक़्त – 110-१६०

एक ध्यान देने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बात:

HBA1C टेस्ट – ये एक तरह का टेस्ट है जो इन दिनों काफी प्रचलित में है आजकल लोगो और डॉक्टर ऐसी टेस्ट पर ज्यादा विश्वास कर रहे है दरअसल खाना खाने के बाद शुगर का लेवल कुछ अलग होता है इसलिए HBA1C तरह का एक टेस्ट है जो शुगर के लेवल को ठीक ठीक बताता है जो काफी अच्छा साबित होता दिख रहा है

इस तरह के टेस्ट में आप अपने पिछले 3 महीने के शुगर लेवल के रिकॉर्ड को चेक कर सकते है और इससे ये अंदाज़ा हो जाता है कि सामान्य रूप से आपका शुगर कितना रहता है

HBA1C टेस्ट में शुगर लेवल कई प्रकार से देखा जाता है –

HBA1C Result
4 – 6 % Non Diabetic
6 – 7 % Good in Control
7 – 8 % Fair Control
9 % > Poor

शुगर लेवल 4 – 6 % का मतलब है कि आपको शुगर कि शिकायत नहीं है आप बिलकुल तरह से ठीक हो

शुगर लेवल 6 – 7 % का मतलब है कि आपको शुगर कि शिकायत तो है लेकिन वह अभी कंट्रोल में है

शुगर लेवल 7 – 8 % का मतलब है कि धीरे धीरे आपका शुगर लेवल बढ़ रहा है और काफी हद तक कंट्रोल में है

और जब शुगर लेवल 9 % है तो इसका मतलब है आपका शुगर बहुत बढ़ गया है और आप ख़तरे कि ओर बढ़ रहे है

इस तरह से आप अपने शुगर लेवल को चेक कर सकते है व ट्रैक रिकॉर्ड में भी रख सकते है अगर आप ये रिकॉर्ड नहीं रखेंगे और अगर आपका शुगर लेवल कही बढ़ जाये तो ये आपके लिए काफी हानिकारक सिद्ध हो सकता है जिसे आपके जीवन को खतरा हो सकता है और कई तरह कि बीमारियाँ हो सकती है जैसे कि किडनी की बीमारी, hypertension, दाँत गिर जाना जैसे बीमारी का सामना कर पड़ सकता है

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आये है तो अपने सुझाव हमे कमेंट बॉक्स की माध्यम से दे सकते हैधन्यवाद!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here